बड़ी खबर

कोविड-19 के वैक्सीन के रख रखाव को तीन एलआर आए, जल्द 2.38 लाख सिरिंज होंगे उपलब्ध

  • टीकाकरण की तैयारी की दिशा में सरकार आवश्यक कोल्ड चेन उपकरण एवं अन्य जरूरी सामग्री करा रही है उपलब्ध
  • पहले चरण में स्वास्थ्य संस्थानों के चिकित्सकों व कर्मियों के साथ आंगनबाड़ी केंद्रों कार्यकर्ताओं को मिलेगा को टीका
  • वैक्सीन आने तक जिले के लोगों को कोविड-19 के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा

(बक्सर ऑनलाइन न्यूज़):- जिले में कोविड-19 के वैक्सीन के रखरखाव व उसके आवंटन की तैयारी तेज कर दी गई है। जिला से लेकर प्रखंड स्तर तक इसकी निगरानी की जा रही है। जिला स्वास्थ्य समिति के अनुसार केंद्र व राज्य सरकार जिस तेजी से वैक्सीन को लेकर काम कर रही है, उसे देखकर लगता है कि कोविड-19 के वैक्सीन के ट्रायल का तीसरा चरण जल्द ही पूरा हो जाएगा। तीसरे चरण का पूरा ट्रायल हो जाने के दो माह में सरकार व स्वास्थ्य विभाग को इसके रिपोर्टसका विश्लेषण और वोलेंटियर्स की निगरानी करनी है। विश्लेषणकार्य पूरा होने के बाद सरकार ने वैक्सीन पर मुहर लगा दी तो आम लोगों के लिए वैक्सीन आने का रास्ता साफ हो जाएगा। वहीं, दूसरी ओर वैक्सीन के रख रखाव के लिएजिले में राज्य स्तर से एलआर भेजा गया है। जिसमें एक बड़ा एलआर और तीन छोटे एलआर शामिल हैं। साथ ही, आगामी दिनों में डीप फ्रीजर भी आने वाले हैं।
टीकाकरण के लिए 2.38 लाख सिरिंज होगा उपलब्ध :
यूएनडीपी के वीसीसीएम मनीष कुमार सिन्हा ने बताया जिले में वैक्सीन को लेकर चरण वार टीका दिया जाएगा। पहले चरण में स्वास्थ्य संस्थानों के चिकित्सकों व कर्मियों के साथ आंगनबाड़ी केंद्रों की सेविका और सहायिकाओं को टीका दिया जाना है। उसके बाद दूसरे चरण में फ्रंट लाइन वर्कर्स को टीका दिया जाना है। टीका आने के पूर्व राज्य स्वास्थ्य समिति ने जिले को सिरिंज आवंटित किया है। इस क्रम में बक्सर जिले को दो लाख 38 हजार सिरिंज उपलब्ध किया जाएगा। सिरिंज की आपूर्ति के लिए बिहार चिकित्सा सेवाएं एवं आधारभूत संरचना निगम को ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था के लिए निर्देश दिया गया है। वहीं, जिलास्तर पर सिरिंज के स्टॉक के प्राप्ति के उपरान्त इसके रख-रखाव उचित स्थल पर करने का भी निर्देश दिया गया है।
सिरिंज के रख-रखाव के लिए स्थलों का होगा चयन :
मनीष कुमार सिन्हा ने बताया जिले में सिरिंज के रख-रखाव के लिए उचित स्थल का चयन किया जा रहा है। सिरिंज के स्टॉक प्राप्ति के उपरान्त अलग से स्टॉक रजिस्टर संधारित करने का निर्देश भी प्राप्त है। कोविड-19 टीकाकरण की तैयारी की दिशा में सरकार द्वारा आवश्यक कोल्ड चेन उपकरण एवं अन्य जरूरी सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। ताकि, वैक्सीन आने के बाद उसके रख-रखाव के साथ टीकाकरण के दौरान किसी प्रकार की समस्या ना हो। आगामी दिनों में राज्य स्वास्थ्य समिति द्वारा जिले को कोविड-19 वैक्सीन भी उपलब्ध कराया जायेगा। वैक्सीन को कोल्ड चेन उपकरणों में रखने के तैयारी भी सुदृढ़ की गई है।
जब तक दवाई नहीं, तब तक लोगों को रहना होगा सतर्क :
प्रभारी सिविल सर्जन सह सीडीओ डॉ. नरेश कुमार ने बताया राज्य व जिला स्वास्थ्य समिति वैक्सीन के रख-रखाव व उसके निगरानी के कार्यों को जल्द पूरा कर लेगी। सरकार के स्तर से वैक्सीन व उसके गाइडलाइन्स प्राप्त होते ही लोगों को टीका लगाने का काम शुरू किया जाएगा। लेकिन, इन सब कार्यों में अभी समय है। जबतक कोविड-19 का वैक्सीन नहीं आ जाता, तब तक लोगों को सतर्क और सावधान रहना होगा। साथ ही, कोविड-19 के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। मास्क के प्रयोग के साथ उचित शारीरिक दूरी के लिए लोग स्वयं के साथ दूसरों को सचेत करते रहें।