बड़ी खबर समाज सेवा

औधोगिक थानाध्यक्ष ने किया पुण्य का काम, सैकड़ों अर्धविछिप्त लोगों को किया खाद्यान्न दान

By- गुलशन सिंह

(बक्सर ऑनलाइन न्यूज़):- कोरोना महामारी के जंग में जिस तरह से पुलिस कप्तान उपेन्द्रनाथ वर्मा के निर्देश पर बक्सर पुलिस के दारोगा और सिपाही दिन रात असहायों एवं गरीबों की सेवा में लगें हैं. यह देख कर जिले में पुलिस के प्रति लोगों के मन में आदर और सम्मान की भावना तेजी से बढ़ती जा रही हैं। जिले की विभिन्न क्षेत्रों में पुलिसकर्मियों द्वारा गरीबों में राहत सामग्री का वितरण करने का सिलसिला लगातार जारी है।

सोमवार को औधोगिक थानाध्यक्ष दिनेश कुमार मालाकार के हाथों तकरीबन 500 अर्धविछिप्त लोगों को पर्याप्त मात्रा में खाद्यान्न दान दिया गया। इस वितरण कार्यक्रम को थाना क्षेत्र के अहिरौली गाँव के मठिया परिसर में कार्मेल स्कूल के तरफ से आयोजित किया गया था। जिसमें स्कूल की प्रधानाध्यापिका एवं रेडक्रॉस सोसायटी के उपाध्यक्ष डॉ शशांक शेखर भी मौजूद थे। इस दौरान थानाध्यक्ष दिनेश मालाकार खुद के हाथों से जरूरतमंद लोगों को मास्क पहनाते नजर आएं. इसके अलावा थाना प्रभारी ने सभी असहाय लोगों को 5 किलो आटा,5 किलो चावल,5 किलो आलू,5 किलो प्याज,5 किलो दाल,2 किलो नमक,सोडा एवं साबुन दान दिया। वही इस वितरण प्रणाली के दौरान सोशल डिस्टनसिंग का पूरा ख्याल रखा गया।

थाना प्रभारी दिनेश मालाकार ने लोगों से लॉकडाउन का पालन करने एवं साफ-सफाई पर खास ध्यान देने की अपील की। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव का एक मात्र उपाय है घरों में रहें। थानाध्यक्ष ने मौके पर उपस्थित जरूरतमंदों को एक पखवारे का राशन देते समय कहा कि उनके क्षेत्र में कोई भी गरीब परिवार भूखे पेट नही रहना चाहिए. यदि किसी की नजर में कोई असहाय,अर्धविछिप्त व्यक्ति हैं तो हमें जानकारी दीजिये. औधोगिक पुलिस उनलोगों को राशन मुहैया कराएगी। वही रेडक्रॉस सोसायटी के उपाध्यक्ष डॉ शशांक शेखर ने बताया कि थाना प्रभारी दिनेश कुमार मालाकार द्वारा अपने क्षेत्र की जनता के लिए पुण्य का काम किया जा रहा है और इनके वितरण अभियान में बड़े पैमाने पर विकलांग,असहाय,मजदूर एवं गरीबों को राशन वितरित किया जा रहा है जो असल में इसके हकदार हैं।

थानाप्रभारी दिनेश मालाकार ने बताया कि उनकी टीम की ओर से लगातार वितरण अभियान चलाया जा रहा है। जिसके लिए बकायदा जरूरतमंद लोगों की लिस्ट एक दिन पहले तैयार की जा रही है और दूसरे दिन उनमें खाद्यान समाग्री का वितरण किया जा रहा है। वही उन्होंने बताया कि लॉकडाउन को देखते हुए एसपी युएन वर्मा का निर्देश प्राप्त हुआ हैं कि क्षेत्र से असाध्य रोगों के मरीजों का पता लगा कर उनसे बात कर उनके आवश्यकता अनुसार दवा का बंदोबस्त किया जाए।