apna lekh

लेख

एक्टर सुशांत सिंह के मृत्यु पर आनन्द ओझा का यह आलेख,जरूर पढें..

(बक्सर ऑनलाइन न्यूज़):- सुशांत ने अपनी जिंदगी भले ही खत्म कर ली पर शायद अभी के धीमी पड़ी जिंदगी में लोगो को सोचने का मौका जरूर दे दिया है। ठीक एक साल पहले जब मेरे भाई अनुपम ओझा की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी तब मैं अपने आप […]

बड़ी खबर लेख

स्मार्टफोन छीन रहा मासूमों का जीवन,माता-पिता है सबसे बड़ा दोषी

By- अमित ओझा की विशेष विचार (बक्सर ऑनलाइन न्यूज):- आज की फोरजी दुनिया में लोग स्मार्ट बनने के लिए अपने तो स्मार्टमोबाइल का उपयोग तो करते ही है साथ में अपने बच्चे को भी स्मार्ट फोन थमा देते है जबकि उनक बच्चा उस योग्य नही होता है , जो बच्चा […]

बड़ी खबर लेख

भोजपुरी कविता के माध्यम से कवि प्रभाकर मिश्रा ने हैप्पी न्यू ईयर पर किया कटाक्ष

By- कवि प्रभाकर मिश्रा (बक्सर ऑनलाइन न्यूज):- ई नया साल हमरा स्वीकार नइखे, ई आपन त्योहार भी नइखे। ई धुंआ, कुहासा छटे द, रात के राज समेटे द। प्रकृति के रूप निखरे द, फागुन के रंग बिखरे द। इहे प्रकृति दुल्हिन के रूप धर, जब आपन प्यार बरसाई। सोना नियन […]

बड़ी खबर लेख

युवा कवि प्रभाकर मिश्रा द्वारा रचित भोजपुरी में सुंदर कविता

By- प्रभाकर मिश्रा,बक्सर ई बक्सर ह। इंहवा भौकाल बहुत बा।। केहू ख़ुश नइखे बाकिर, अरमान बहुत बा। जेकरा के देखीं काहे, दो परेशान बहुत बा ।। नजदीक से देखि, त बालू के घर बा । बाकिर दूर से , इनकर शान बहुत बा।। कहल गइल बा की, साँच के कवनो […]

बड़ी खबर लेख

एक कवि द्वारा रचित मेरी रूह नामक कविता,जरूर पढें…

“मेरी रूह” (बक्सर ऑनलाइन न्यूज):- मेरी रूह बसती है उस दुवार पर, जहाँ रोज सुबह के आठ बजे सुकुरती डेरा डालती है। और जब वो पूँछ हिलाते हुए पहुँचती है, तो माँ कहती है “जा एगो रोटी दे दऽ, बेचारी भूखाइल होई” मेरी रूह बसती है उस घर में, जहाँ […]

देश लेख

हिन्दी व भोजपुरी भाषा के प्रसिद्ध कवि मुकेश ओझा ने डॉ ए. पी.जे अब्दुल कलाम के जयंती पर व्यक्त की अपनी विचार,अवश्य पढें…

मैं मुकेश कुमार ओझा एक कवि हूँ आज मैं उस विद्वान की जयंती पर अपना विचार इस बक्सर ऑनलाइन न्यूज के माध्यम से आप सबके बीच रख रहा हूँ जिन्होंने एक गरीब परिवार के साधारण बच्चे होते हुए भी ऐसी ऐसी असाधरण कार्य कर दी जिसके बदौलत दुनिया भर में […]